आयुर्वेदानुसार भोजन के प्रकार

आयुर्वेद जीवन का समर्थन करने वाले और जीवन को नुकसान पहुंचाने वाले खाद्य पदार्थों के बीच अंतर करता है। कुछ भोजन शरीर और मन का

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Read More

भोजन ही जीवन है

स्वास्थ्य के वैदिक सिद्धान्त। वैदिक साहित्य के सरताज, श्रीमद भागवत में लिखा गया है। ब्रह्मांड सघन हुआ। आकाशगंगा, सौर प्रणाली और ग्रहों की उत्पत्ति हुई।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Read More

आयुर्वेदिक सिद्धांत।

आयुर्वेद ने पहचान की है कि तीन मूल सिद्धान्त जीवन को चलाते हैं। यदि इन शक्तियों में संतुलन है, या तालमेल है, जीवन प्रवाह निधि और स्वतंत्र रूप से विकसित हो सकता है। ये सिद्धान्त माइक्रोकोज्प ऑर मेक्रोकोज्य में प्रतिबंधित हैं। जिस व्यक्ति में ये शक्तियां संतुलित हैं वह पूरी तरह स्वस्थ, सक्षम और खुशहाल है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Read More